loader

मुर्गीपालन कर दिलीप ने किया रोजगार का सृजन

बिहार के समस्तीपुर जिला के कोठिया गांव निवासी दिलीप कुमार खेतीबाड़ी को छोड़कर मुर्गीपालन में ही अपने कैरियर को आगे बढ़ा रहे हैं। नतीजन आज वो इस क्षेत्र में 60 से 80 युवाओं को रोजगार भी प्रदान कर चुके हैं। 31 वर्षीय दिलीप कुमार इन दिनों जिले के कई लोग व किसान प्रेरणास्रोत बन चुके हैं। उन्होंने बहुत कम पूंजी लाकर इस व्यवसाय में सफलता हासिल की।
दिलीप कुमार कहते हैं कि इस कार्य की प्रेरणा उन्हें हरियाणा के किसानों से मिली। यहां के कई किसान मुर्गीपालन कर बेहतर रूप से जीवन-यापन कर रहे हैं। उन्होंने कहा मुझे बैंक से लोन लेकर इस काम को शुरू करना पड़ा। फिलहाल ढ़ाई एकड़ भूमि में मुर्गीपालन का काम किया गया है जिससे प्रतिदिन 4800 अंडे प्राप्त होते हैं। उन्होंने बताया कि बाजार मांग को देखते हुए हमने दो कंपनियां भी बनाई जिसका नाम डीके ऑफ बिजनेस और डीके ग्रुप ऑफ बिजनेस है। इसके तहत अंडा और चूजा का बिजनेस किया जाता है, वहीं पोल्ट्री बिजनेस के साथ मुर्गी के लिए फीड सप्लाई का निर्माण किया जाता है।
दिलीप कहते हैं यदि कोई किसान भाई इस कारोबार से जुड़ना चाहता है तो 25 से 30 लाख रुपये राशि से शुरू कर सकता है। केन्द्र एवं राज्य सरकार की ओर से इस योजना का लाभ किसान भाई ले सकते हैं। मैंने जब कारोबार को शुरू किया तो मुझे भी बैंक ने पोल्ट्री पर लोन न देकर कई अन्य कार्यों के लिए लोन प्रदान किया। दिलीप कहते हैं कि उन्होंने मुर्गी पालन की बेहतरी के लिए बैंकांक व जकार्ता देशों का भ्रमण किया। वहां उन्होनें देखा कि मुर्गीपालन तकनीकी तौर से किया जाता है। इस दौरान मुर्गी को पानी मशीनों द्वारा ही समय-समय पर दिया जाता है। इस तकनीक को दिलीप भी इस्तेमाल करना चाहते हैं।
फिलहाल बिहार में अंडे की खपत को देखते हुए यह कारोबार किसानों के लिए बेहतर है। अभी हाल के दिनों में लेयर फॉर्म का दूसरा यूनिट वाजिदपुर में आठ एकड़ में लगाया गया। इस यूनिट में कम से 90 हजार अंडों का उत्पादन होता है। साथ ही मुर्गी के दाने के लिए फीडमील के उपकरण भी लगाए गए हैं।
उन्होंने कहा कि यदि कोई किसान या युवा मुर्गी पालन को अपना रोजगार बनाना चाहता है, तो हम उसे तकनीक की जानकारी देंगे। किसान केन्द्र एवं राज्य सरकार की ओर से चलाए जा रहे योजनाओं का लाभ लेकर अपना तकदीर व तस्वीर बदल सकते हैं।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

कामयाब किसान से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें