loader

रूस के राष्ट्रपति का भारत दौरा, कई विषयों पर हो सकती है चर्चा

भारत और रूस के सम्बन्ध काफी मजबूत है. कई अहम मौको पर यह बात साबित हो चुकी है. कोरोना के बाद यह पहली बार है जब रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भारत दौरे पर आ रहे है. 

fasalkranti.in
समाचार, 06 Dec, 2021

भारत और रूस के सम्बन्ध काफी मजबूत है. कई अहम मौको पर यह बात साबित हो चुकी है. कोरोना के बाद यह पहली बार है जब रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भारत दौरे पर आ रहे है. कई बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए इस दौरे को काफी अहम माना जा रहा है. कोरोना संकट की वजह से पुतिन का ये भारत दौरा बेहद छोटा यानी महज कुछ घंटों का रखा गया है, लेकिन इसका असर ना सिर्फ दोनों देशों के सबंधों पर होगा बल्कि इससे चीन और पाकिस्तान जैसे भारत के पड़ोसी देशों को भी बड़ा संदेश जाएगा. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सुरक्षा कारणों की वजह से पुतिन के भारत पहुंचने के समय का खुलासा नहीं किया गया है, लेकिन वह दोपहर दो बजे भारत पहुंच सकते हैं और रात 9.30 बजे अपने वतन वापस लौट जाएंगे.

इन सुरक्षा मुद्दों पर  हो सकती है अहम चर्चा :

पुतिन के इस दौरे में कई अहम मुद्दों पर चर्चा होने वाली है जिसमें-

• 7.5 लाख एके-203 असॉल्ट राइफल्स का भारत में उत्पादन  

• S-400 मिसाइल सिस्टम की समय पर डिलीवरी  

• 12 नई सुखोई-30 की डिलीवरी  

• नौसेना के लिए MIG-29 विमानों की नई खेप

• 5000 इग्ला-एस शॉल्डर फ़ायर्ड मिसाइल्स की खरीद  

• भारत-चीन तनाव  

• अफगानिस्तान

• आतंकवाद  

• और द्विपक्षीय व्यापार का मुद्दा प्रमुख है.

इन देशों पर पड़ेगा  असर : 

रुसी राष्ट्रपति के भारत आने से चीन, पाकिस्तान और अमेरिका पर सबसे अधिक असर पड़ेगा. ज्ञात रहे अमेरिका भारत से पहले ही डिफेन्स मिसाईल के सौदे के चलते नाराज चल रहा  है. ऐसे में अमेरिका पर इस दौरे का सीधा प्रभाव पड़ेगा. इसी के साथ पाकिस्तान और चीन पर भी सीधा असर पड़ेगा. क्योंकि इस दौरे पर चीन के साथ भारत के संबंधों पर भी चर्चा हो सकती है. 

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

समाचार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

पाठकों की पसंद