loader

पंचायती चुनाव से गैंदा फूलो में उछाल 

बिहार के बक्सर जिले के दियारा से सटे इलाकों में फूलों की खेती खूब होती है। क्षेत्न में फूल उत्पादक किसानों ने लगभग बीस एकड में गेंदा फूल की खेती की है। चुनावी मौसम में फसल अच्छी होने के कारण 

fasalkranti.in
समाचार, 27 Sep, 2021, (अपडेटेड 27 Sep, 2021 07:22PM)

बिहार के बक्सर जिले के दियारा से सटे इलाकों में फूलों की खेती खूब होती है। क्षेत्न में फूल उत्पादक किसानों ने लगभग बीस एकड में गेंदा फूल की खेती की है। चुनावी मौसम में फसल अच्छी होने के कारण इस बार अच्छा मुनाफा होने की उम्मीद है। किसान चन्नालाल मालाकार का कहना है कि एक एकड गेंदा फूल की खेती में लगभग 35 से 40 हजार रुपये की लागत आई है। पश्चिम बंगाल से मंगाए गए उत्तम किस्म के बीज के चलते प्रति एकड लगभग 20 क्विंटल की पैदावार होने की उम्मीद है। 

क्षेत्न में बडी संख्या में मजदूर खेत में फूलों को तोडने का काम करते हैं। कोरोना संक्रमण काल के दौरान किसान फूल को खेतों में ही छोडने को मजबूर थे। फूलों की बढ़ी मांग से उनकी जिदगी भी पटरी पर लौट रही है। दिनेश कुमार, सुरेश चंद्र, विमल, अशोक आदि दैनिक मजदूरों ने बताया कि उन्हें अब प्रतिदिन काम मिल जा रहा है।कोरोना संक्र मण के कारण बाजार में मांग गिरने से फूलों की खेती करने वाले किसान परेशान थे। अब स्थिति धीरे-धीरे बदल रही है। पंचायत चुनाव से फूलों की खेती को संजीवनी मिल गई है। अगले महीने शारदीय नवरात्न भी प्रारंभ हो रहा है। ऐसे में फूलों की खपत बढ़ेगी। ऐसी स्थिति में मांग के अनुरूप फूलों का दाम बढ़ना स्वाभाविक है। पंचायत चुनाव शुरू हो गया है। 

नामांकन करने से पहले प्रत्याशी पूजा-पाठ करते हैं। समर्थक भी प्रत्याशियों को माला पहना रहे हैं। गेंदा के फूल से बना माला अधिक प्रयोग हो रहा है। सिमरी दुधीपट्टी निवासी फूल किसान धर्मेद्र मालाकार का कहना है कि पिछले महीने तक स्थानीय मंडी में गेंदा के फूल प्रतिदिन दो से ढाई क्विंटल तक बिक रहे थे। पंचायत चुनाव शुरू होते ही मांग बढ़ गई है। प्रतिदिन आठ से 10 क्विटल फूल बिक रहे हैं। किसान गोविद मालाकार ने कहा कि चुनावी माहौल में गेंदा के फूलों की अच्छी कीमत मिल रही है। उम्मीदवारों के समर्थक किसी भी कीमत पर फूल-मालाएं खरीदने के लिए तैयार हैं। सामान्य दिनों में गेंदा फूलों की एक माला की कीमत सात रु पये थी, आज 20 से 25 रु पये में बिक रही है। खुदरा में गेंदा के फूल 120 रु पये प्रति किलो बिक रहे हैं, जबकि थोक में 10 हजार रु पये क्विंटल का भाव चल रहा है। गेंदा फूल उत्पादक किसानों का कहना है कि जब मांग कम थी तो उन्हें फूल-माला की बिक्री करने जिला मुख्यालय जाना पडता था। आज स्थिति है कि व्यवसायी खरीदारी करने खेतों तक पहुंच रहे हैं। 

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

समाचार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

पाठकों की पसंद