loader

21 जून अंतराष्ट्रीय योगा दिवस विशेष: योग से बनें योग्य

योग करने से शरीर निरोग होता है। ऐसा तब होता है जब योग सही तरीके से किया जाए। तन और मन को सेहतमंद बनाए रखने के लिए योगासन, प्राणायाम और ध्यान करने के दौरान गलतियां खत्म करने से ही बात बनेगी। इस दौरान कुछ ऐसी योग क्रियाओं के बारे में बता रहे हैं। जिससे आपको फायदा होगा।

fasalkranti.in
समाचार, 21 Jun, 2021

योग का हमारे जीवन में बहुत अधिक महत्व है। प्राचीन काल से ही योग को एक बेहतर क्रिया माना गया है। योग करने से शरीर निरोग होता है। ऐसा तब होता है जब योग सही तरीके से किया जाए। तन और मन को सेहतमंद बनाए रखने के लिए योगासन, प्राणायाम और ध्यान करने के दौरान गलतियां खत्म करने से ही बात बनेगी। इस दौरान कुछ ऐसी योग क्रियाओं के बारे में बता रहे हैं। जिससे आपको फायदा होगा।

कौन, कब, कैसे करे योग

3 साल से बड़ा कोई भी बच्चा योग कर सकता है। 12 साल की उम्र तक हल्के योगासन और प्राणायाम जैसे वृक्षासन व शीतकारी ही करना चाहिए।

योग में लगाएं कितना वक्त

अगर आसन, प्राणायाम और ध्यान की बात करें तो सामान्य हालात में पूरा सेशन 70 मिनट का होना चाहिए। वैसे इसे 40 मिनट का भी बना सकते हैं। इसमें हर क्रिया को आधे समय में करना है। सिर्फ आराम की क्रिया को 5 मिनट रखना है। इसके लिए किसी योग एक्सपर्ट से जरूर सलाह लेनी चाहिए।

योगासन : 30 मिनट

आराम या शवासन : 5 मिनट

प्राणायाम : 15 मिनट

आराम या शवासन : 5 मिनट

ध्यान : 15 मिनट

सूर्य नमस्कार: सूर्य नमस्कार को भी योगासन के समय में ही करना है। इसे मैराथन आसन कह सकते हैं। इसलिए सूर्य नमस्कार शुरुआत में 1 से 2 बार करना चाहिए। सूर्य नमस्कार में कुल 8 आसन होते हैं जिन्हें 12 स्टेप में किया जाता है। सूर्य नमस्कार को शुरुआती 3 से 4 महीनों में 2 बार ही करना सही है। फिर इसकी संख्या धीरे-धीरे बढ़ाएं। अगर कोई शख्स 3 साल से ज्यादा समय से सूर्य नमस्कार कर रहा है तो 9 बार तक कर सकता है, लेकिन अपनी क्षमता देखने के बाद। योग में सबकुछ आसानी से होना चाहिए, जबर्दस्ती कुछ भी नहीं।

पूरी योग क्रिया को 3 भागों में बांट सकते हैं और इसी क्रम में योग क्रियाएं की जानी चाहिए:

1. आसन

2. प्राणायाम

3. ध्यान

लोग करते है यह गलतिया

• लोग खानपान का ध्यान नहीं रखते। सुबह चाय पीकर योग शुरू करते हैं। इससे अच्छा है कि योग करने से एक घंटा पहले 1 गिलास सामान्य या आधा नीबू निचोड़ कर पानी पी लें। इससे शरीर डिटॉक्सिफाई भी हो जाता है। शरीर से हानिकारकर पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। चेहरे पर ताजगी का भाव आ जाता है। खाली पेट चाय पीने से गैस बनती है।

• योग करते समय पहनावा हमेशा ही ढीला होना चाहिए ताकि हवा भी अंदर पहुंचे और शरीर को मोड़ने या झुकाने में परेशानी भी न हो।

जिस तरह एक्सरसाइज करने से पहले वॉर्मअप जरूरी होता है, उसी तरह योग क्रिया से पहले सूक्ष्म क्रियाएं करना भी जरूरी है। सूक्ष्म क्रियाएं न करने से शरीर को आसनों का पूरा फायदा नहीं मिलता। इसलिए 5 से 10 मिनट की सूक्ष्म क्रियाएं कर सकते हैं। इसे बैठकर या खड़े होकर कर सकते हैं जैसे गर्दन को आगे-पीछे, दाएं-बाएं करना। इसी तरह की क्रिया हाथों के साथ भी करना है। इसे किसी योग गुरु से सीख सकते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा योग को आगे बढ़ाना है

पीएम ने कहा कि जब भारत ने संयुक्त राष्ट्र में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा था, तो उसके पीछे यही भावना थी कि ये योग विज्ञान पूरे विश्व के लिए सुलभ हो। आज इस दिशा में भारत ने यून, डब्ल्यूएचओ के साथ मिलकर एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि सबको साथ लेकर चलने वाली मानवता की इस योग यात्रा को हमें ऐसे ही अनवरत आगे बढ़ना है। कोई भी स्थान हो, कोई भी परिस्थिति हो, कोई भी आयु हो, हर एक के लिए योग के पास कोई न कोई समाधान जरूर है।

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

समाचार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

पाठकों की पसंद