loader

बिहार विधानसभा भवन शताब्दी समारोह में 1500 माननीय ऐतिहासिक समारोह के बनेंगे साक्षी

बिहार विधानसभा भवन के 100 साल पूरे करने पर 21 अक्टूबर को आयोजित शताब्दी समारोह के साक्षी बिहार के करीब डेढ़ हजार माननीय बनेंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मौजूदगी में होने वाले इस समारोह

fasalkranti.in
समाचार, 19 Oct, 2021

बिहार विधानसभा भवन के 100 साल पूरे करने पर 21 अक्टूबर को आयोजित शताब्दी समारोह के साक्षी बिहार के करीब डेढ़ हजार माननीय बनेंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मौजूदगी में होने वाले इस समारोह में बिहार के सभी लोकसभा व राज्यसभा सांसद, सभी वर्तमान व पूर्व विधायक तथा विधान पार्षद आमंत्रित किये गये हैं। इनमें केन्द्र सरकार में बिहार कोटे से शामिल सभी मंत्नी भी आमंत्रित हैं।सांसदों को खुद बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने आमंत्रित किया है। रविवार को उन्होंने एक-एक को फोन कर आने का आग्रह किया। वहीं, सोमवार को वह दो सत्नों में वर्तमान व पूर्व विधायकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ेंगे।विधानसभा परिसर को महामिहम राष्ट्रपति के आगमन को लेकर करीने से सजाया-संवारा गया है। तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। पूरे भवन को रंगीन बल्बों की झलिमल चादर से जगमग कर दिया गया है।

विधानसभा की 100 वर्षों की शानदार व स्विर्णम यात्ना को नई पीढ़ी तक पहुंचाने के मकसद से विधानसभा की ओर से एक भव्य स्मारिका के प्रकाशन की तैयारी की जा रही है। राष्ट्रपति श्री कोविंद इसे लोकार्पित करेंगे।विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि 100 वर्ष के एतिहासिक सफर में कई राजनीतिक -सामाजिक-आर्थिक संकल्प पूरे हुए हैं। बिहार विधानसभा भवन के बदलाव का कारण बना है। एक से बढ़कर एक यादगार क्षण इस परिसर ने इस सफर में अपने में समाहित किया है। शताब्दी समारोह के जरिए नई पीढ़ी इसे जान पायेगी तथा अपने राज्य तथा यहां के विधायी कार्यों की उनमें समझ विकिसत होगी। जन प्रतिनिधियों के प्रति सम्मान का भाव भी बढ़ेगा।राष्ट्रपति के सम्मान में विस अध्यक्ष के आवास पर आयोजित रात्रिभोज का मुख्य आकर्षण सांस्कृतिक कार्यक्र म होगा। इसमें करीब 400 लोग आमंत्रित होंगे। 

कला संस्कृति विभाग द्वारा करीब डेढ़ घंटे की प्रस्तुति दी जाएगी, इसके जरिए बिहार के समृद्ध लोकगीत, संगीत व ध्रुपद गायन की वानगी पेश होगी। विपिन मिश्र का शंखवादन, जीतेन्द्र कुमार एवं दल द्वारा बिहार गौरव गान, प्रशांत-निशांत मिल्लक का ध्रुपद गायन, डॉ. स्वाती सिन्हा का कथक नृत्य, सत्येन्द्र कुमार संगीत का लोकगीत, अर्जुन चौधरी के नेतृत्व में रिद्म ऑफ बिहार तथा शारदा सिन्हा का लोकगायन होगा। कुल सात प्रस्तुतियों में 77 कलाकार शामिल रहेंगे। राष्ट्रपति 21 अक्टूबर को आयोजित समारोह में विस परिसर में पवित्न बोधिवृक्ष के शिशु पौधे का रोपण करेंगे। साथ ही शताब्दी स्मृति स्तंभ का शिलान्यास रखेंगे। 40 फीट ऊंचा यह स्तंभ अनोखा होगा। वास्तुशास्त्नत्त् के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण बनेगा। अष्टकोणीय इस स्तंभ को इस प्रकार बनाया जा रहा है कि सूरज की किरणो इसके हर कोण से टकराकर अपना बिम्ब विस भवन पर बनाए और यह छाया समय का अहसास करा सके।  

राष्ट्रपति के पटना आगमन को लेकर अभी से पटना एयरपोर्ट की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। परिसर में आने-जाने वाले हर यात्नी की जांच में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। एयरपोर्ट के प्रवेश द्वार से लेकर रनवे एरिया, आगमन एरिया और स्टेट हैंगर की ओर सुरक्षा बलों की संख्या बढ़ा दी गयी है। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा बलों की तैनाती रहेगी। एयरपोर्ट के अधिकारियों की मानें तो राष्ट्रपति के विशेष विमान के आने से दस मिनट पहले यात्नी विमानों की आवाजाही बंद रहेगी। हालांकि एयरपोर्ट प्रशासन की ओर से अधिकारिक रूप से कोई बयान नहीं जारी किया गया है।

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

समाचार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

पाठकों की पसंद