loader

स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है गोल्ड

सोने के गहने पहनना हमारे देश में एक पारंपरिक रिवाज है। तीज त्यौहारों या फिर शादी समारोह, ऐसे मौकों पर भारतीय महिलाएं सोने से बने आभूषणों में अक्सर देखी जाती हैं। 

fasalkranti.in
समाचार, 14 Jun, 2021, (अपडेटेड 14 Jun, 2021 05:44PM)
सोने के गहने पहनना हमारे देश में एक पारंपरिक रिवाज है। तीज त्यौहारों या फिर शादी समारोह, ऐसे मौकों पर भारतीय महिलाएं सोने से बने आभूषणों में अक्सर देखी जाती हैं। भारत में तो पुरुष भी सोना पहनना पसंद करते हैं। सोना महिलाओं व पुरुषों की खूबसूरती को तो बढ़ाता ही है साथ ही इन्वेस्टमेंट के लिए भी ये एक शानदार विकल्प है। दीपावली और अक्षय तृतीय पर सोने की खरीद को शुभ माना जाता है लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं इसके कई स्वास्थ्य लाभ भी हैं।

जी हां, ये बात शोध में भी स्पष्ट हो चुकी है कि सोने में कई ऐसे गुण पाए जाते हैं जो मानव स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। सोना एक प्राकृतिक गैर-विषाक्त खनिज है जिससे हमारी अनेक तरह की सेहंत संबधी समस्याएं दूर होती हैं। 

आइए जानते हैं गोल्ड के स्वास्थ्य लाभ

शरीर के तापमान को नियंत्रित करता सोना

असली सोना शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है। इस बारे में कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि तापमान के कारण शरीर में होने वाली समस्याओं जैसे ठंड लगना और अचानक बुखार वाली गर्मी महसूस करना को कम करने में मदद कर सकता है। यह भी कहा जाता है कि रजोनिवृत्ति यानी मेनोपॉज से गुजरने वाली महिलाएं बुखार को कम करने के लिए सोने के आभूषण पहन सकती हैं।

सूजन और दर्द कम करता है सोना कुछ अध्ययनों से पता चला है कि शुद्ध सोने में एंटी इंफ्लेमेंटरी जैसे गुण पाए जाते हैं। 1900 के दशक की शुरुआत में इसे लेकर एक सर्जन ने प्रैक्टिकल किया था। सर्जन ने शरीर के सूजन वाले हिस्से पर सोने का एक टुकड़ा लगाया था ताकि दर्द कम हो सके। एंटी इंफ्लेमेंटरी गुण शरीर में बॉडी पेन और स्‍वेलिंग को कम करने के लिए बेस्‍ट हैं। इस तरह से बॉडी टेंपरेचर को रेगुलेट करता है। सोने के अलावा कोपर धातु में भी ये गुण पाए जाते हैं।

घाव भरने में कारगर सोना

 

सोने का प्रयोग शरीर में लगे घावों का इलाज करने के लिए भी किया जाता है। प्राचीन ग्रंथों से पता चलता है कि सोने को जब किसी घाव पर लगाया जाता है तो यह संक्रमण को रोकता है और सही तरीके से इलाज करता है। 

त्वचा की गुणवत्ता में सुधार

माना जाता है कि 24 कैरेट सोना आपकी त्वचा की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद कर सकता है। सोना स्किन को गर्माहट और सूथिंग वाइब्रेशन प्रोवाइ़ड करता है। इसलिए यह आपके शरीर की कोशिकाओं को फिर से उत्पन्न करने में भी मदद करता है। सोने का प्रयोग स्किन संबंधी समस्याओं जैसे एक्जिमा, फंगल संक्रमण, लाल चकत्ते, घाव, जलन आदि के इलाज के लिए भी किया जाता है।

नेचुरल स्टीमुलेंट का काम करता है सोना

कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि सोना हमारी कोशिकाओं के लिए एक प्राकृतिक उत्तेजक के रूप में कार्य करता है और तंत्रिका कोशिकाओं के बीच विद्युत संकेतों के संचार यानी ट्रांसमिशन के सुधार करने में मदद करता है।

इम्यूनिटी बूस्टर

कुछ जानकारों का ये भी मानना है कि सोना हमारी इम्यूनिटी भी बूस्ट होती है। असली सोना के आभूषण पहनने से इम्यून सिस्टम स्ट्रांग बनता है और इस तरह से गोल्ड हमारी संक्रमण से सुरक्षा करता है।

इलाज में डॉक्टर्स भी करते हैं सोने का प्रयोग

एक्यूपंक्चर चिकित्सक दर्द को कम करने और शरीर में ऊर्जा प्रवाह को मुक्त करने के लिए सोने की नोक वाली सुइयों का उपयोग करते हैं। जोड़ों में सूजन और दर्द के इलाज में विशेष रूप से प्रभावी माना जाता है।

गठिया के सिम्टम्स को कम करने में मददगार

गोल्ड गठिया के लक्षणों को कम करने में भी मदद कर सकता है लेकिन इस दावे को साबित करने के लिए अभी अधिक अध्ययन की आवश्यकता है। हालांकि, प्राचीन ग्रंथों और पारंपरिक चिकित्सा विशेषज्ञों का दावा है कि 24 कैरेट सोना गठिया से जुड़े लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है। 

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

समाचार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

पाठकों की पसंद