loader

2399 आंगनबाडी केंद्र अब तक स्कूलों से नहीं हुए टैग

साथ ही बच्चों के पोषण का पूरा ख्याल रखा जाता है। सेविकाएं अपने पोषक क्षेत्नों में गर्भवती महिलाओं का भी ख्याल रखती हैं। इस दौरान बच्चे सिर्फ यहां बैठकर खेलते, खाते और पढते हैं। इन केंद्रों को चलाने का लक्ष्य ही कुपोषण को खत्म करना है। 

fasalkranti.in
समाचार, 15 Oct, 2021
साथ ही बच्चों के पोषण का पूरा ख्याल रखा जाता है। सेविकाएं अपने पोषक क्षेत्नों में गर्भवती महिलाओं का भी ख्याल रखती हैं। इस दौरान बच्चे सिर्फ यहां बैठकर खेलते, खाते और पढते हैं। इन केंद्रों को चलाने का लक्ष्य ही कुपोषण को खत्म करना है। डीपीओ ने बताया कि सरकार के आदेशानुार जिला के सभी केंद्र सोमवार से पहले की तरह चलने लगेंगी। हालांकि, साफ सफाई, मास्क, सेनेटाइजर व अन्य सुरक्षा मानकों का पूरा ख्याल रखा जाएगा। राशन से लेकर बच्चों के खान पान की व्यवस्था भी केंद्रों पर ही शुरू हो जाएगी। कोरोना संकट काल के कारण लंबे समय तक सेविकाओं ने घर घर जाकर ऐसे बच्चों के लिए राशन पहुंचायी थी। उनके घर जाकर पौष्टीक लड्डू बांटे गए थे। अब ये सभी गतिविधियां केंद्र पर चलने लगेंगी अन्य केंद्रों को टैग करने का काम चल रहा है। टैग होने के बाद उस स्कूल के शिक्षक सप्ताह में रोस्टर के अनुसार केंद्र पर ही जाकर बच्चों को पढाएंगे। उन्हें आगे की पढाई के लिए प्रेरित करेंग। साथ ही यहां से निकलने के बाद उस स्कूल में सीधे नामांकन किया जाएगा। ताकि, अनवरत तरीके से उनकी पढाई चलती रहे।आईसीडीएस की डीपीओ रीना कुमारी ने बताया कि तीन से छह साल तक के बच्चों को इन आंगनबाडी केंद्रों पर खेल खेल में पढने के लिए प्रेरित किया जाता है।    
साथ ही बच्चों के पोषण का पूरा ख्याल रखा जाता है। सेविकाएं अपने पोषक क्षेत्नों में गर्भवती महिलाओं का भी ख्याल रखती हैं। इस दौरान बच्चे सिर्फ यहां बैठकर खेलते, खाते और पढते हैं। इन केंद्रों को चलाने का लक्ष्य ही कुपोषण को खत्म करना है। डीपीओ ने बताया कि सरकार के आदेशानुार जिला के सभी केंद्र सोमवार से पहले की तरह चलने लगेंगी। हालांकि, साफ सफाई, मास्क, सेनेटाइजर व अन्य सुरक्षा मानकों का पूरा ख्याल रखा जाएगा। राशन से लेकर बच्चों के खान पान की व्यवस्था भी केंद्रों पर ही शुरू हो जाएगी। कोरोना संकट काल के कारण लंबे समय तक सेविकाओं ने घर घर जाकर ऐसे बच्चों के लिए राशन पहुंचायी थी। उनके घर जाकर पौष्टीक लड्डू बांटे गए थे। अब ये सभी गतिविधियां केंद्र पर चलने लगेंगी
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

समाचार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

पाठकों की पसंद