loader

किसान अत्याधुनिक कृषि यंत्रो का इस्तेमाल करें: हरमीत सिंह 

कृषि मशीनरी को खेती की रीढ़ माना जाता है। खेती करने के लिए मशीनरी का प्रयोग मौजूदा समय में बहुत जरुरी हो गया। कृषि मशीनरी के खेती में बढ़ते प्रचलन को कृषि में नयी क्रांति के रूप में देखा जा रहा है। इसलिए कृषि यंत्रो की मांग किसानों के बीच दिन प्रतिदिन बढती जा रही है। देश की कृषि यंत्र निर्माता कंपनी किसानों को उच्च गुणवत्ता वाले कृषि यंत्र उपलब्ध करा रही है। राजस्थान एग्रीकल्चर वर्क्स ऐसी ही कंपनी है जो किसानों को टिकाऊ और उच्च गुणवत्ता वाले कृषि यंत्र उपलब्ध करा रही है। इस पर फसल क्रांति की टीम ने कंपनी के प्रबंध निदेशक हरमीत सिंह से बात की पेश है बातचीत के कुछ मुख्य अंश।
राजस्थान एग्रीकल्चर वर्क्स के विषय में बताएं?
राजस्थान एग्रीकल्चर वर्क्स की शुरुआत 1977 में राजस्थान के रायसिंह नगर से हुई थी। उस समय एक छोटी कंपनी के रूप में इसकी शुरुआत की गई थी। जैसे-जैसे हमनें किसानों की जरूरतों को समझा और किसानों से प्यार मिलता गया तो कंपनी भी प्रगति करती गई। शुरुआत में हम कम कृषि यंत्र बनाते थे लेकिन अब कृषि यंत्रों की एक बड़ी श्रृंखला हम किसानों को उपलब्ध करा रहे हैं।
कंपनी का मुख्य लक्ष्य क्या है?
कंपनी का मुख्य लक्ष्य किसानों को उनकी जरूरतों के अनुरूप सुविधाएं प्रदान करना है। हम अपने लक्ष्य के अनुरूप किसानों को उच्च स्तरीय गुणवत्ता वाले कृषि उपकरण उपलब्ध कराते हैं। प्रयास यही रहता कि किसानों को उनके खेती के अनुरूप उनकी कृषि जरूरतों के अनुरूप कृषि यंत्रो की मांग को पूरा किया जा सके।
कौन-कौन से कृषि यंत्र का निर्माण करते हैं?
कृषि यंत्रो की एक बड़ी श्रृंखला हम किसानों को उपलब्ध करा रहे हैं। यदि हम कृषि यंत्रो के निर्माण की बात करें तो हम मुख्य रूप से थ्रेशर, धान थ्रेशर, मूंगफली थ्रेशर, मल्टी क्रॉप थ्रेशर, के अलावा और भी कई प्रकार के कृषि यंत्र का निर्माण करते हैं। थ्रेशर निर्माण में हमारी विशेज्ञता है इसलिए हमारे थ्रेशर देशभर में बेचे जाते हैं।
कृषि यंत्रीकरण में आप और क्या नवाचार कर रहे हैं?
खेती में कृषि यंत्रो के बढ़ते प्रयोग को एक क्रांति के रूप में देखा जाता है। इसलिए खेती के बदलते तरीको और किसानों की जरूरतों के अनुरूप समय समय पर कृषि यंत्रो में परिवर्तन और नवाचार होता रहता है। मौजूदा समय में हमने अपने कृषि उपकरणों में कई अत्याधुनिक तकनीक जोड़ी है। खासकर थ्रेशर में हमने टोकरी मॉडल को लांच किया है जिससे समय और काम करने की लागत दोनों में कमी आती है। इसी के साथ हमने अपने कृषि यंत्रो में सेफ्टी फीचर भी जोड़े है।
किसानों को आप क्या कहना चाहेंगे?
अपने किसान भाईयों से मै यह कहना चाहूँगा की कोरोना के इस कठिन समय में किसान सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन्स का पालन करे और मास्क अवश्य प्रयोग करें। क्योंकि जीवन सर्वप्रथम है। इसी के साथ मै यह भी कहना चाहूँगा कि किसान अत्याधुनिक तकनीक वाले टिकाऊ और अच्छे कृषि यंत्रो का इस्तेमाल करें ताकि लम्बे समय तक कृषि उपकरणों को किसान इस्तेमाल कर सके और उनका पूरा लाभ ले सके।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

साक्षात्कार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें