loader

मुझे खुशी है कि आज महिलाएं बाहर निकल रही हैं - रीना कपूर

कई बार महिलाओं को कम करके आंका जाता है और उन्हें वह अवसर नहीं दिया जाता जिसके वे हकदार हैं। कभी-कभी हम उन्हें साहस जुटाते हुए देखते हैं और वह एक स्टैंड लेते हैं 

fasalkranti.in
मनोरंजन, 01 Jul, 2021, (अपडेटेड 01 Jul, 2021 10:41AM)

कई बार महिलाओं को कम करके आंका जाता है और उन्हें वह अवसर नहीं दिया जाता जिसके वे हकदार हैं। कभी-कभी हम उन्हें साहस जुटाते हुए देखते हैं और वह एक स्टैंड लेते हैं जिससे उन्हें बहुत आगे बढ़ने में मदद मिलती है। रंजू की बेटीयां दंगल टीवी पर एक ऐसा शो है जिसने समय-समय पर महिलाओं को बाहर निकलने, अपने जीवन को संभालने और यह दिखाने का अधिकार दिया है कि वे स्वतंत्र हो सकती हैं और अपने दम पर खड़ी हो सकती हैं। टीवी शो में रीना कपूर द्वारा अभिनीत, रंजू की बेटियां उनकी सबसे बड़ी ताकत हैं। एक किरदार के रूप में रंजू कैसे आगे बढ़ी है और शो महिलाओं को अपनी पसंद बनाने के लिए कैसे प्रोत्साहित करता है, इस बारे में बोलते हुए, रीना कपूर ने अपने विचार साझा किए।

रीना कहती हैं, ''14 साल पहले जब से उसके पति ने उसे दूसरी महिला के लिए छोड़ दिया, तब से रंजू को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। इन्हीं चुनौतियों की वजह से वह आज इतनी मजबूती से खड़ी हैं। इन सबके बावजूद उसने हमेशा अपना रुख नीचा रखा है। लेकिन ललिता ने रंजू के जीवन में जो कठिनाइयों का पैदा किया है, वह आखिरकार अपने लिए खड़ी हो गई। मेरा मानना है कि यह उन सभी महिलाओं के लिए एक उदाहरण है, जो खुद को इस पितृसत्तात्मक समाज के तहत बोझ समझती हैं। यह उन्हे याद दिलाता है कि खुद के लिए होना चाहिए और किसी भी चीज या किसी से डरने की कोई आवश्यकता नहीं है। जैसे रंजू कहते हैं 'ये डरने वाली नहीं, लड़ने वाली रंजू है', हर किसी को पता होना चाहिए कि कब उन्हें अपने हक़ के लिए खड़े होना चाहिए। मुझे खुशी है कि महिलाएं आज बाहर निकल रही हैं और  वह समाज के बारे में नहीं सोचती है, लेकिन सोचती है कि वह समाज और खुद के भीतर कैसे बदलाव ला सकती है।

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

मनोरंजन से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

पाठकों की पसंद