loader

मंथन के जरिए किसानों को जागरूक कर रही है वीएनआर की टीम 

भारत एक कृषि प्रधान देश है, इस देश में किसान तरह-तरह की फसलों की खेती करते हैं और उससे संबंधित चुनौतियों का सामना करते हैं,

fasalkranti.in
कंपनी समाचार, 28 Jun, 2021
भारत एक कृषि प्रधान देश है, इस देश में किसान तरह-तरह की फसलों की खेती करते हैं और उससे संबंधित चुनौतियों का सामना करते हैं, इस प्रक्रिया में कहीं पर तकनीकी ज्ञान का अभाव, कहीं पर रोग एवं कीट से संबंधित मुश्किलें और कहीं पर फसलों के लगाने का उचित समय एवं प्रबंधन उनके सामने चुनौती बनकर खड़ा रहता है। इन सभी के समाधान के लिए किसान अपने स्तर पर हर संभव प्रयास करते हैं और विभागीय अधिकारियों, कृषि विज्ञान केंद्रों, कृषि महाविद्यालयों के संपर्क में रहकर इन समस्याओं का समाधान प्राप्त करते हैं। कोविड-19 के समय में जब पूरा देश अस्त-व्यस्त एवं बंद है, ऐसे समय में किसानों को संवाद बनाए रखना एक चुनौती है। डिजिटल प्लेटफॉर्म ने इस समस्या का काफी हद तक एक समाधान प्रस्तुत किया जिससे देश हर स्तर पर आगे बढ़ रहा है। विख्यात वैज्ञानिक पद्म श्री डॉ.ब्रह्मसिंह, चेयरमैन, बीएसएचएफ, ने कोविड के समय को नजदीक से देखा और किसानों से संवाद स्थापित करने की दिशा में पहल का विचार किया, उन्होंने इस विषय में श्री विमल चावड़ा, एम.डी, वीएनआर सीड्स, से चर्चा कर एक वेबीनार सीरीज प्रारंभ करने का सुझाव दिया जो डिजिटल प्लेटफॉर्म पर कृषि वैज्ञानिकों, अनुभवी किसानों एवं प्रतिभागियों को एक मंच पर लाकर संवाद स्थापित कर सके और कृषि संबंधित जानकारी को किसानों तक पहुंचा सके। वीएनआर मंथन एक ऑनलाइन मंच है जहां वैज्ञानिक, शोधकर्ता और किसान अपने ज्ञान और अनुभव साझा करते हैं और इसके साथ ही इससे जुड़े प्रतिभागियों/ किसानों की समस्याओं का समाधान करते हैं। वीएनआर मंथन का उद्देश्य किसानों के सामने आने वाली वास्तविक चुनौतियों पर कृषि वैज्ञानिकों एवं प्रगतिशील और कुशल किसानों द्वारा नवीनतम फसल सुधार तकनीको से मदद करना है। वीएनआर नर्सरी ने अक्टूबर 2020 से बड़े ही उत्साह के साथ इस श्रृंखला की शुरुआत की, इस श्रृंखला की शुरुआत से ही किसानों ने इस में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया तथा किसान समुदाय की प्रतिक्रिया से प्रेरित होकर वीएनआर मंथन ने 8 सफल संस्करणों को किसानों तक पहुंचाया। वीएनआर मंथन के इस वेबीनार श्रृंखला के मुख्य संरक्षक पद्म श्री डॉ. ब्रह्मसिंह, चेयरमैन, बीएसएचएफ और श्रृंखला के संयोजक श्री देवेश शुक्ला, बिजनेस हेड, वीएनआर नर्सरी प्राइवेट लिमिटेड है। इस श्रृंखला में मुख्य वक्ता आई.सी.ए. आर के विभिन्न वैज्ञानिक थे जो विभिन्न फसलों में उत्कृष्ट ज्ञान रखते हैं, जबकि किसानों को अनुभूति वक्ता बनाया गया है जो खेती के अनुभव से किसानों को लाभान्वित करते हैं। वीएनआर नर्सरी की टीम ने इस श्रृंखला के दौरान नई तकनीकों के आविष्कार इसकी आवश्यकता, क्रियान्वन पद्धति एवं इससे होने वाले लाभ का प्रसार किया। किसानों की सकारात्मक प्रतिक्रिया मिलने के बाद वीएनआर नर्सरी टीम इन संस्करणों को बढ़ावा देने के लिए और इसे किसानों तक आसानी से पहुंचाने के लिए - फेसबुक, व्हाट्सएप, यूट्यूब, जैसे सामाजिक मीडिया का उपयोग कर रही है। टीम ने अपने पूरे प्रयास से इन संस्करणों को सफल बनाने के लिए व्हाट्सएप समूहों का निर्माण किया ताकि इन संस्करणों में उपस्थित लोगों को किसी भीतर कोई परेशानी ना हो।वीएनआर मंथन किसानों के बीच लोकप्रियता हासिलकर रहा है क्योंकि यह एकमात्र ऐसा मंच है जहां प्रसिद्ध कृषि वैज्ञानिक और सर्वश्रेष्ठ प्रगतिशील किसान अपना अनुभव किसानों के समूह और कृषि छात्रों के साथ साझा करते हैं। हमें विश्वास है कि इस विषम परिस्थिति (Covid-19) में हमारा यह प्रयास किसानों के लिए कारगर है।यह सभी वेबीनार संस्करण "जूम" प्लेटफार्म पर किए गये, जहां उपस्थित लोगों में कृषि पेशेवर, वैज्ञानिक शोधकर्ता, छात्र और नर्सरी मेन केसाथ-साथ बड़े स्तर पर किसान भी शामिल हुऐ। आज भी किसान हमारे फेसबुक पेज में रिकॉर्ड किए गए वेबीनार संस्करण को इस लिंक पर देखते हैं– https://www.facebook.com/vnrnursery/videos/ टीम वीएनआर नर्सरी का यह प्रयास कंपनी के मूलमंत्र" किसानों के हित में" के अनुरूप है।  
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

कंपनी समाचार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

पाठकों की पसंद